Causes of Sleep Insomnia : अनिद्रा रोग का कारण और घरेलु आयुर्वेदिक उपचार

Causes of Sleep Insomnia
Causes of Sleep Insomnia

Causes of Sleep Insomnia : Insomnia यानि की अनिद्रा रोग इसको आमतौर की भाषा में sleepless भी कहते है. आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में नींद का ना आना एक बड़ी समस्या बनती जा रही है. बुजुर्गों को छोड़िये, युवा और किशोरे भी अनिद्रा रोग का शिकार हो रहे है. बहुत से लोग तो नींद की गोलियां इत्यादि का सेवन करने लगते है और इन नशीली दवाओ के आदी बनते जा रहे है. Sleep Insomnia के रोगियों की समस्या दिन पर दिन बढती जा रही है. ऐसे में कुछ आयुर्वेदिक घरेलु उपचार आपके लिए सहायक हो सकते है.

Causes of Sleep Insomnia : अनिद्रा रोग का कारण

Causes of Sleep Insomnia: Insomnia  यानि अनिद्रा के अनेक कारण हैं. जिनमे से प्रमुख कारण मानसिक परेशानी है. आयुर्वेद के अनुसार वात की वृद्धी अवं रजोगुण की अधिकता के कारण अनिद्रा रोग होता है.  अधिक परिश्रम, अत्यंत तनाव, पेट में गड़बड़ी, क़ब्ज़, अनियमित खानपान और घबराहट की वजह से भी अनिद्रा रोग हो जाता है. मादक पदार्थों के सेवन करने से भी अनिद्रा रोग उत्पन्न हो जाता है.

Causes of sleep Insomnia
Causes of sleep Insomnia

 

Symptoms of Insomnia : अनिद्रा रोग के लक्षण

Symptoms of Insomnia : 

  • रात को बहुत ही कठिनाई से नींद का आना
  • बार बार नींद का उचट जाना
  • नींद जल्दी खुल जाना.
  • चिडचिडापन अवसाद या चिंता

Insomnia home remedies : अनिद्रा रोग का घरेलु उपचार

Insomnia home remedies : अनिद्रा रोग से बचने के कुछ घरेलु उपचार भी सहायक सिद्ध हो सकते है.

  • एक तोला प्याज का रस एक गिलास गाय के दूध में मिला के पीने अनिद्रा रोग ठीक हो जाता है.
  • कान में गुनगुना सरसों का तेल डालने से.
  • जायफल पानी में को चन्दन की तरह घिसे और सोने से पूर्व पलकों पर पतला लेप लगाये नींद अच्छी आएगी.
  • भंग की ताज़ी पत्तियों को बकरी के दूध में पीसकर हथेली, तलुवे एवं माथे पर लगाने से chronic Insomnia भी ठीक हो जाती है.
  • भंग की पत्तियों को टिल के तेल में पकाकर पाँव के तलुवों की मालिश करने से से अनिद्रा रोग में लाभ मिलता है.
  • भुना धनिया, काहू के बीज की मींगी, भुना खस खस, काली मिश्री, सफ़ेद मिश्री, सफ़ेद खाड और 12 कालीमिर्च को पीस कर महीन चूर्ण बना ले और एक चम्मच सुबह शाम खाने से अनिद्रा रोग में बहुत अच्छा लाभ मिलता है.
  • नियमित रूप से टहलना, व्यायाम करना, ताज़ी हवा में टहलना, चिंतामुक्त रहना, सोने से पूर्व सर की मालिश करना एवं सोने से पूर्व कोई पुस्तक आदि पढने से भी अनिद्रा रोग में लाभ मिलता है.

treatment for Insomnia : अनिद्रा रोग का आयुवेदिक उपचार

योग चिकित्सा एवं आयुर्वेदिक औषधियों के माध्यम से गंभीर अनिद्रा का भी निवारण संभव है. विभिन्न प्रकार के आसन, प्राणायाम आदि यौगिक उपायों और कुछ औषधियों का प्रयोग लाभकर सिद्ध होता है. आयुर्वेदिक दवाओं में निद्रोदय रस, सर्पगंधा, घनवटी, मांस्यादी क्वाथ, ब्राम्ही, अश्वगंधा, जटामांसी, इत्यादि मस्तिस्क बाल्य औषधियां चमत्कारी प्रभाव दिखाती है.

  • पिप्पली मूल चूर्ण 1.5 ग्राम सोने से पूर्व लेना चाहिए.
  • 1 ग्राम स्वामक्षक भस्म पानी के साथ सोने से पूर्व लेने से अनिद्रा में लाभ मिलता है.
  • 1.25 ग्राम वातकुलान्तक  रोज़ शहद के साथ लेने से भी अनिद्रा रोग में आराम मिलता है.
  • 1.25 ग्राम निद्रोदय रस रोज़ शहद के साथ सेवन करने से अनिद्रा रोग ठीक हो जाता है.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*